Begin typing your search above and press return to search.

देश को एक सूत्र में बांधने वाली भाषा है हिंदी: राहुल कुमार शर्मा

देश को एक सूत्र में बांधने वाली भाषा है हिंदी: राहुल कुमार शर्मा

Sentinel Digital DeskBy : Sentinel Digital Desk

  |  8 Jun 2019 7:52 AM GMT

गुवाहाटी। दक्षिण भारतीय की राज्य में हिंदी के खिलाफ उठते स्वरों के बीच उत्तरपूर्वी राज्य असम में राष्ट्र भाषा का प्रचार प्रसार जारी है। असम की विश्व प्रसिद्ध नीलाचल पहाड़ी और शक्तिपीठ कामाख्या धाम के पास स्थित कामाख्या हायर सेकंड्री स्कूल में फिर से हिंदी भाषा की शुरूआत की जा रही है। इस स्कूल में पुन: असम राष्ट्रभाषा प्रचार समिति के तहत राष्ट्रभाषा की परीक्षाएं ली जाएंगी। कामाख्या स्कूल में आयोजित एक समारोह में सहायक साहित्य सचिव रामनाथ प्रसाद ने मुख्य अतिथि के रूप में अपने संबोधन में हिंदी के विश्वव्यापी रूप का संक्षिप्त विवरण देते हुए कहा कि इस स्कूल के अलावा अन्य कई स्कूलों और कॉलेजों में पढऩे वाले कामाख्या इलाके के बच्चों को भी हिंदी सीखने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस कार्यक्रम के दौरान स्कूल के प्रचार्य राहुल कुमार शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि देश के हर नागरिक को हिंदी सीखनी चाहिए। हिंदी देश को जोडऩे वाली भाषा है। उन्होंने कहा कि कुछ तथाकथित क्षेत्रीयतावादी लोग और संगठन अपने राजनीतिक स्वार्थों की खातिर हिंदी का विरोध कर रहे हैं जो उचित नहीं।

Also Read: गुवाहाटी शहर

Next Story
पूर्वोत्तर समाचार