Begin typing your search above and press return to search.

पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने सौर ऊर्जा संयंत्रों के जरिए बचाए 1.88 करोड़ रुपए

पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने सौर ऊर्जा संयंत्रों के जरिए बचाए 1.88 करोड़ रुपए

Sentinel Digital DeskBy : Sentinel Digital Desk

  |  8 Jun 2019 8:03 AM GMT

गुवाहाटी। पारंपरिक विद्युत शक्ति के बदले में विस्तृत तौर पर सौर ऊर्जा का इस्तेमाल की जोरदार नीति को बरकरार रखते हुए पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने पिछले वित्तीय वर्ष में 2300 किलोवाट सौर शक्ति अर्जित करने पर सक्षम हुए हैं। जबकी इसी बीच गुवाहाटी, पूर्वोत्तर सीमा रेलवे के पहला सौर ऊर्जा संपन्न स्टेशन है, इस संमंडल के समस्त 41 संख्यक अन्य स्टेशनों में कुल 1140 किलोवाट शक्ति क्षमता वाले ऑफ ग्रीड सौर ऊर्जा की प्लांट स्थापित की गई हैं। इन 41 स्टेशनों के बीच लामडिंग संमंडल के बरहु, सनुवाबाड़ी एवं आमोनी स्टेशनों ने इन प्लांटों के स्थापना करने का कामकाज इसी बीच पूरे किए गए हैं। दूसरी ओर बाकी रहे स्टेशनों में भी ये प्लांट आगामी वर्ष 2019 के दिसंबर महिने में कार्यक्षम हो जाएंगे। ये प्लांट कार्यक्षम होने के बाद वार्षिक अर्जित 37.38 करोड़ रुपए की बचत होने की उम्मीद की गई है।

दूसरी ओर 730 किलोवाट शक्ति संपन्न अन्य कई सौर ऊर्जा की प्लांट कार्यक्षम होने की राह पर है, जिसके अंदर अलिपुरद्वार का रेल संग्रहालय (40 किलोवाट शक्ति संपन्न), अलिपुरद्वार आरपीएफ बैंरेक (3000 किलोवाट शक्तिसंपन्न), कोचिंग विभाग गुवाहाटी (200 किलोवाट शक्ति संपन्न) वर्ष 2019 के दिसंबर तक कार्यक्षम हो जाएंगे। ग्रीड संयोजित पद्धति द्वारा इस सौर ऊर्जा प्लांटों ने करीब 60 लाख रुपयों के वार्षिक जमा उत्पन्न करेगी। आने वाले दिनों में पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने अन्य एक 2935 किलोवाट शक्ति संपन्न सौर ऊर्जा प्लांट के स्थापना का लक्ष हाथ पे लिए है, जिसके लिए संबंधित शर्तावलियों का आखिरी आकार प्रदान करने की प्रक्रिया वर्तमान चल रहे हैं। इसके अंदर डिब्रुगढ़ स्टेशन, कामाख्या स्टेशन, न्यू गुवाहाटी के डीजल शेड एवं मैकनिकल वार्कशप, बंगाईगांव के 1000 किलोवाट शक्तिसंपन्न एक सौर ऊर्जा प्लांट शामिल होंगे। यही पर उल्लेख किया जा सता है कि ये सारी प्लांट, ऊर्जा क्रय योजना के अधीन मुफ्त स्थापित की गई है, जिसके द्वारा रेलवे ने एजेंसी से सौर ऊर्जा 25 सालों की एक समयसीमा के लिए एक निर्धारित दर पर क्रय करेगी। पूर्वोत्तर सीमा रेलवे ने इसी बीच इस मंडल के समस्त लेवेल क्रासिंग गेटों पर सौर ऊर्जा प्लांट स्थापित की गई।

Also Read: गुवाहाटी शहर

Next Story