Begin typing your search above and press return to search.

पूरबी डेयरी के डिस्ट्रीब्यूटर रंजीत बोरा की गुवाहाटी शहर में गोली मारकर हत्या कर दी गई

गुवाहाटी शहर के सबसे महत्वपूर्ण स्थलों में से एक के पास दिन के उजाले में हुई एक हत्या ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है, जिससे उनकी रूह काँप उठी है।

पूरबी डेयरी के डिस्ट्रीब्यूटर रंजीत बोरा की गुवाहाटी शहर में गोली मारकर हत्या कर दी गई

Sentinel Digital DeskBy : Sentinel Digital Desk

  |  22 Nov 2022 9:55 AM GMT

स्टाफ रिपोर्टर

गुवाहाटी: गुवाहाटी शहर के सबसे महत्वपूर्ण स्थलों में से एक के पास दिनदहाड़े हुई एक हत्या ने लोगों को झकझोर कर रख दिया है।

श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र के पास शहर के पंजाबी इलाके में आज सुबह करीब 11 से 11.30 बजे मोटरसाइकिल सवार बदमाशों ने पूरबी डेयरी के वितरक रंजीत बोरा को गोली मार दी। पुलिस सूत्रों के अनुसार बोरा आईसीआईसीआई बैंक की पंजाबी शाखा में पैसे जमा कराने जा रहा था. वह अपनी कार (वैगन आर जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर AS01BH5022 है) से उतरने ही वाले थे कि मोटरसाइकिल सवार दो युवक आए और उनका रुपयों का बैग छीनने की कोशिश की। कहासुनी हुई और अचानक एक युवक ने बोरा पर गोली चला दी। एक गोली उसकी गर्दन में लगी और वह कार की सीट पर गिर पड़ा।

सूत्रों ने कहा कि बदमाश अपनी बाइक से पंजाबी की तरफ भाग गए। काले रंग का हेलमेट पहने हुए थे, इसलिए पहचान नहीं हो सकी।

इसी बीच पुलिस को सूचना दी गई। बोरा को गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल (जीएमसीएच) ले जाया गया लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। जीएमसीएच के अधीक्षक डॉ. अभिजीत सरमा ने मीडियाकर्मियों को बताया कि जब तक बोरा को अस्पताल लाया गया तब तक बोरा की मौत हो चुकी थी। उसकी गर्दन के दाहिनी ओर एक प्रवेश घाव था और बाईं ओर एक निकास घाव था।

गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त हरमीत सिंह ने कहा, "हमारे पास कुछ सुराग हैं और हमारी जांच चल रही है। अपराधी पकड़े जाएंगे। इस तरह की वारदात को सज़ा दी जा सकती है।"

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, बोरा के बैग में करीब 2.5 लाख से 3 लाख रुपए कैश था। पुलिस ने आसपास की दुकानों से सीसीटीवी कैमरे के फुटेज जुटाए हैं।

दूसरी ओर, परिवार के सदस्यों ने सवाल किया है कि जब प्रमुख निजी अस्पताल अपराध स्थल के पास हैं तो पुलिस बोरा को भांगागढ़ के जीएमसीएच क्यों ले गई।

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने बाद में शाम को मीडियाकर्मियों को संबोधित करते हुए कहा कि पुलिस को घटना के बारे में कुछ सुराग मिले हैं। उन्होंने कहा, "शूटिंग के पीछे पैसे लूटना मुख्य मकसद प्रतीत होता है। मुझे उम्मीद है कि पुलिस जल्द ही मामले को सुलझाने और अपराधियों को गिरफ्तार करने में सक्षम होगी।"

उन्होंने कहा, "सीसीटीवी कैमरे की फुटेज हासिल कर ली गई है, लेकिन युवक काले हेलमेट पहने हुए थे, इसलिए उनके चेहरे नहीं दिख रहे थे। इसके अलावा, अपराध को अंजाम देने के लिए इस्तेमाल की गई बाइक पर नंबर प्लेट नहीं थी।"

यह भी पढ़े - कछार पेपर मिल के पुनरुद्धार के लिए आगे बढ़ें: एआईडीसी ने संयंत्र, मशीनरी और टाउनशिप को पट्टे पर देने के लिए ईओआई जारी की

Next Story
पूर्वोत्तर समाचार