पूर्वोत्तर समाचार

ईद के मौके के बीच विदेशी के नाम पर अल्पसंख्यकों पर अत्याचार बंंद करने की मांग में प्रधानमंत्री को स्मारक पत्र भेजा

ईद

 

ढेकियाजुली। पवित्र ईद के दिन मुस्लिम धर्मालम्बी लोग एक दूसरे को गले मिलकर ईद की बधाई देते हुए विभिन्न प्रकार के लजीज पकवान खा रहे है। वही दूसरी तरफ असम में विदेशी के नाम पर धर्मीय और भाषिक अल्पसंख्य लोगों के उपर हो रहे अत्याचार बंद करने कि मांग करते हुए आज शोणितपुर जिला के अंतर्गत शहीद नगरी ढेकियाजुली स्थित राजस्व कार्यालय के सामने उतर पूर्वांचल संख्यालघु छात्र संस्था (नेमसू )के अध्यक्ष बदरूल इस्लाम उनके सहयोगी और कानूनी सलाहकार साहिबा आहमेद ने अनशन पर बैठते हुए भारत के प्रधानमंत्री को एक स्मारक पत्र प्रदान किया। ढेकियाजुली राजस्व कार्यालय के अधिकारी साब्यसांची कश्यप के जरिए।

स्मारक पत्र के जरिए संस्था ने मांग की है कि सुप्रीमकोर्ट के निगरानी में एक शुध्द, विदेशी मुक्त राष्ट्रीय नागरिक पंजीयन प्रस्तुत हो , 1971 सन के 25 मार्च के पहले आए नागरिकों को नागरिकता के सन्दर्भ में परेशान न किया जाय, राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप्त पूर्व सैनिक सानाउल्ला के पास भारतीय नागरिक होने का सभी दस्तावेज होने के बावजूद भी उन्हें गिरफ्तार कर ग्वालपारा के डिटेनसन कैंम्प में रखा गया है। उन्हें अति शीघ्र रिहा किया जाए साथ ही उनके नागरिकता के सन्दर्भ में जो अधिकारी ने जांच कि है उस अधिकारी के खिलाफ जांच अवसर प्राप्त न्यायधीसो द्वारा कराई जाए।

 

Also Read: पूर्वोत्तर समाचार

Tags