पूर्वोत्तर समाचार

पांच दिनों की खोज के बावजूद वायुसेना के लापता एएन -32 विमान का कोई सुराग नहीं

एएन -32 विमान

 

ईटानगर। भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लापता एंटोनोव भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लापता एंटोनोव एएन -32 विमान के ठिकाने का पता शुक्रवार को पांचवें दिन भी लगातार खोज और बचाव कार्यों के बाद विमान के ठिकाने का पता शुक्रवार को पांचवें दिन भी लगातार खोज और बचाव कार्यों के बाद भी नहीं चल सका। आठ सदस्यों और पांच यात्रियों के साथ रूसी मूल के विमान ने 3 जून को असम के जोरहाट से चीन सीमा के पास मेचुका उन्नत लैंडिंग ग्राउंड के लिए उड़ान भरने के बाद संपर्क खो दिया था। मेचुका अरुणाचल प्रदेश के शि-योमी जिले का मुख्यालय भी है। शिलांग स्थित आईएएफ के प्रवक्ता विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने बताया कि खराब मौसम के बावजूद, आईएएफ, सेना और स्थानीय प्रशासन द्वारा संयुक्त तलाशी अभियान दिन भर जारी रहा। सिंह ने कहा, हेलीकॉप्टरों द्वारा तलाशी अभियान, भारतीय नौसेने और भारतीय सेना व स्थानीय लोगों की जमीनी पार्टियों पर कार्रवाई की गई, लेकिन एएन -32 विमान कर्ही नजर नहीं आई। कम रोशनी के लिए तलाश बंद कर दिया गया और शनिवार सुबह फिर से शुरू होगा। इस बीच, स्थानीय और जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ भारतीय सेना और आईटीबीपी के जमीनी दल भी सियांग जिले के आसपास के क्षेत्रों की खोज कर रहे हैं, आधिकारिक सूत्रों ने इसकी जानकारी दी। लगभग 2500 वर्ग किलोमीटर का एक क्षेत्र सियांग जिले के कयांग और पेरुम सर्कल के अंतर्गत आता है, जो विमान के मार्ग पर संदिग्ध क्षेत्र है। अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने गुरुवार को एएन -32 विमान के लिए तलाशी अभियान को तेज करने के लिए सियांग, वेस्ट सियांग, लोअर सियांग और शि-योमी के सभी जिला प्रशासन को निर्देश दिया।

 

Also Read:पूर्वोत्तर समाचार