शीर्ष सुर्खियाँ

आतंकवाद का समर्थन करने वाले देशों को जवाबदेह बनाया जाए : मोदी

मोदी

 

बिश्केक (किर्गिस्तान)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को अपने पाकिस्तानी समकक्ष इमरान खान की मौजूदगी में कहा कि वे देश जो आतंकवाद का च्समर्थन, प्रोत्साहान, वित्तपोषणज् करते हैं, उन्हें निश्चित ही जवाबदेह बनाया जाना चाहिए। उन्होंने इसके साथ ही आतंकवाद से निपटने पर बातचीत के लिए एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने का भी आह्वान किया। आठ देशों के समूह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) में यहां एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि मानवता की ताकतों को अपने संकीर्ण मानसिकता से बाहर निकलना चाहिए और आतंकवाद को मिटाना चाहिए। मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन समेत अन्य सदस्य देशों के नेताओं के समक्ष कहा, एससीओ देशों को आतंकवाद मिटाने के लिए एससीओ-आरएटीएस (शंघाई कॉपोरेशन ऑर्गनाइजेशन-रीजनल एंटी टेरेरिस्ट स्ट्रक्चर) के अंतर्गत अपनी पूरी ताकत का प्रयोग करना चाहिए। मोदी ने कहा, गत रविवार मैं श्रीलंका के सेंट एंटनी चर्च (21 अप्रैल को हुए हमलों में शामिल जगह) गया था, जिसके बाद मैंने महसूस किया कि आतंकवाद का कुरूप चेहरा कहीं भी सिर उठाकर निर्दोष लोगों की जान ले लेता है। उन्होंने कहा, आतंकवाद का समर्थन, सहायता या वित्तपोषण करने वाले देश को जिम्मेदार ठहराया जाना जरूरी है। प्रधानमंत्री ने कहा, भारत आतंकवाद से निपटने के लिए अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने का आह्वान करता है। एससीओ क्षेत्र में स्थिरता और सुरक्षा की जरूरत को रेखांकित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में शांतिपूर्ण, सुरक्षित और समृद्ध अफगानिस्तान महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि भारत अफगानिस्तान की अगुवाई, अफगानिस्तान के स्वामित्व और अफगानिस्तान के नियंत्रण वालेज् शांति प्रक्रिया प्रयासों का स्वागत करता है और अपनी खुशी जाहिर करता है कि एससीओ-अफगानिस्तान संपर्क समूह के लिए रोडमैप तैयार हो गया है। मोदी ने एससीओ देशों के बीच बेहतर कनेक्टिविटी, स्वास्थ्य सुविधा, वैकल्पिक ऊर्जा और लोगों की जरूरतों के क्षेत्र में सहयोग पर भी जोर दिया। (आईएएनएस)

 

Also Read: शीर्ष सुर्खियाँ