शीर्ष सुर्खियाँ

चुनाव बाद हिंसा में मारे गए 10 में से 8 तृणमूल कार्यकर्ता : ममता बनर्जी

ममता बनर्जी

 

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को दावा किया कि राज्य में चुनाव बाद हिंसा में उनकी पार्टी के आठ लोग मारे गए हैं। उन्होंने राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी पर मृतकों की संख्या गलत बताने का आरोप लगाया। ममता बनर्जी ने दावा किया कि 10 मारे गए लोगों में से आठ उनकी पार्टी तृणमूल कांग्रेस से हैं, जबकि दो भाजपा से हैं। ममता बनर्जी ने बंगाल के समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की आवक्ष-प्रतिमा के अनावरण के मौके पर कहा, बीते रोज राज्यपाल ने कहा कि चुनाव बाद की हिंसा में बंगाल में 12 लोग मारे गए हैं। उन्होंने राष्ट्रीय मीडिया से बात करते हुए एक राजनीतिक बयान दिया। वास्तव में अब तक 10 लोग मारे गए हैं। उनमें से आठ हमारी पार्टी के हैं। ममता बनर्जी ने कहा, हर मौत दुर्भाग्यपूर्ण है। मैं मुख्य सचिव से कहूंगी कि आपदा प्रबंधन फंड से 10 मृतकों के परिवारों को सहायता राशि दें। भाजपा ने राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 18 पर जीत हासिल की है। इसके बाद भी पश्चिम बंगाल में कई जगहों से हिंसा की खबरे आ रही हैं। भाजपा की तृणमूल से मात्र चार सीटें कम हैं। भाजपा का लक्ष्य अब दो साल बाद होने वाले विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करना है।

ममता बनर्जी ने कहा कि सभी मामलों की जांच की जाएगी। ममता बनर्जी ने कहा, सभी हत्याओं की जांच हो रही है। भाजपा के दो कार्यकर्ता मारे गए हैं, लेकिन यह देखने की जरूरत है कि क्या उन्हें अपने ही आदमियों ने मारा है, जो गोलियां फायर कर रहे थे। उधर, भाजपा नेता मुकुल रॉय ने सोमवार को दावा किया था कि चुनाव बाद हिंसा में भाजपा के सात कार्यकर्ता मारे गए हैं, जबकि तीन अन्य लापता हैं और उनके मारे जाने का अंदेशा है। पश्चिम बंगाल : बम हमले में 2 की मौत, 3 घायल :पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले में कथित तौर पर फेंके गए बम से दो लोगों की मौत हो गई व तीन लोग घायल हो गए। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। यह घटना सोमवार की रात कनकिनारा इलाके के बरुईपारा में सामने आई। पीडि़तों को अपना समर्थक बताते हुए राज्य की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के जिला अध्यक्ष व मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) समर्थित गुंडों ने उन पर बम फेंका था। हालांकि, भाजपा के बैरकपुर सांसद अर्जुन सिंह ने आरोपों से इनकार किया। पुलिस ने कहा कि मारे गए दो लोगों की पहचान मोहम्मद मुख्तार व मोहम्मद हलीम के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा कि यह घटना तब हुई जब मुख्तार के परिवार के सदस्य घर के बाहर बैठे हुए थे। पुलिस ने कहा कि हलीम की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि मुख्तार की अस्पताल में मौत हुई। पुलिस ने कहा कि मुख्तार की पत्नी गंभीर रूप से घायल हो गई थी, जिसका दो अन्य के साथ अस्पताल में इलाज चल रहा है।(आईएएनएस)

 

Also Read: शीर्ष सुर्खियाँ